Posts Tagged ‘poem’

Hindi Poetry

Posted: April 25, 2015 in poetry
Tags: , ,
Tum meri baate samajh paogi kaise, mai JAZBAAT likhta hu aur tum ALFAAZ padhte ho !!
—————————
मोहब्बत और मौत की पसंद तो देखो ,
एक को दिल चाहिए और दूसरे को धड़कन
————–
“कामयाब लोग ” अपने फेसले ” से दुनिया बदल देते हे
!! और
नाकामयाब लोग दुनिया के डर से “अपने फेसले ” बदल लेते हे !!”
————-
Advertisements